http://WWW.VASTUCONSULTANTSIN.COM
VASTUCONSULTANT 582b33089ec6683638274d95 False 650 1
OK
background image not found
Updates
update image not found
वास्तु शास्त्र के जगत में डॉ. आनन्द भारद्वाज जी (एम.ए., एम.बी.ए, पी.एच.डी. (समाजशास्त्र), पी.एच.डी.(वास्तुशास्त्र), डी.एस.सी.(वास्तुशास्त्र), का नाम सर्वोच्च योग्यता प्राप्त, विश्व विख्यात एवं वरिष्ठतम वास्तु शास्त्रियों की सूची में अग्रिम पंक्ति में आता है। उन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन वैदिक वास्तु शास्त्र पर अध्ययन, अध्यापन, शोध, खोज एवं विश्लेषण को समर्पित किया। वैदिक वास्तुशास्त्र के क्षेत्र में ज्ञात एवं उपलब्ध जानकारी के आधार पर वे तीसरी पीढ़ी के वास्तु शास्त्री हैं जिन्होंने वास्तु शास्त्र को विज्ञान की कसौटी पर परखा, इसे जाना और समाज को वास्तु के ज्ञान-विज्ञान से परिचित करवाया। इस पुस्तक में उपलब्ध सम्पूर्ण पठन सामग्री डॉ. आनन्द भारद्वाज जी के जीवन के एक लम्बे अनुभव, अध्ययन, विश्लेषण एवं रिसर्च के परिणाम स्वरुप पाठकों के समक्ष उपस्थित हो सकी है। इस पुस्तक को पढ़ कर कोई भी सामान्य व्यक्ति अपना घर, फैक्टरी, ऑफिस, दुकान, शोरूम, स्कूल, कॉलेज, कॉर्पोरेट ऑफिस, कारखाना, वर्कशॉप आदि सभी प्रकार की बिल्डिंग को बड़ी आसानी से व त्रुटीरहित ढंग से बना सकता है या फिर पहले से बने हुए भवन में वास्तु अनुसार ढांचागत सुधार भी कर सकता है। Best Vastu Books in Hindi
http://WWW.VASTUCONSULTANTSIN.COM/latest-update/-/649
2 3
false